Spread the love


Mumbai extortion case: चांदीवाल कमेटी (Chandiwal Committee) ने मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्ननर परमबीर सिंह (Parambir Singh) को पेश होने के लिए कहा है. कमेटी ने कहा है कि अगर वह उनके सामने पेश नहीं होते हैं तो उनके खिलाफ जारी जमानती वारंट को एक्जिक्यूट किया जाएगा. बता दें कि परमबीर सिंह द्वारा राज्य के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख पर लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच के लिए महाराष्ट्र सरकार ने चांदीवाल कमेटी का गठन किया है.

चांदीवाल कमेटी ने गुरुवार को परमबीर सिंह के वकील से पूछा परमबीर सिंह कहां हैं. उन्हें कमेटी के सामने आने को कहा जाए. जस्टिस चांदीवाल ने कहा कि जमानती वारंट अभी भी पेंडिंग है. अगर ये एक्जिक्यूट होता है तो ठीक नहीं होगा, इससे बेहतर है वो हमारे सामने पेश हों. बता दें कि अदालत ने 100 करोड़ की वसूली के मामले में परमबीर सिंह को भगोड़ा घोषित कर रखा है. वह करीब 7 महीने के बाद गुरुवार को मुंबई पहुंचे.

परमबीर सिंह ने दी थी चंडीगढ़ में होने की जानकारी

हालांकि कोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा रखी है. इससे पहले, परमबीर सिंह ने एबीपी न्यूज से बात करते हुए चंडीगढ़ में होने की जानकारी दी थी. उन्होंने एबीपी न्यूज से बात करते हुए कहा था कि मैं चंडीगढ़ में हूं और कोर्ट के आदेश के हिसाब से आगे कदम उठाउंगा. महाराष्ट्र सरकार की मांग पर मुंबई की एक कोर्ट ने परमबीर सिंह को भगोड़ा घोषित किया हुआ है.

वहीं पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के वकील ने चांदीवाल कमेटी के सामने कहा कि बर्खास्त पुलिस अधिकारी सचिन वाजे से सवाल पूछते समय पूर्व मंत्री को कोर्ट में रहने को कहा जाए. जिसके बाद कमेटी ने अनिल देशमुख के लिए प्रोडक्शन वारंट जारी किया. अनिल देशमुख के वकील कल दोपहर 1 बजे सचिन वाजे से जिरह करेंगे.

ये भी पढ़ें- पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह करीब 7 महीने बाद पहुंचे मुंबई, कोर्ट ने घोषित कर रखा है भगोड़ा

Sameer Wankhede Vs Nawab Malik: नवाब मलिक को बॉम्बे हाई कोर्ट से झटका, वानखेड़े परिवार के खिलाफ बयानबाजी पर लगी रोक



Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *