Spread the love


दमोह. दमोह में एक नाबालिग मां ने अपने 40 दिन के बच्चे की रस्सी से गला घोंटकर हत्या कर दी. हत्या के बाद वह खुद ही उसे अस्पताल लेकर पहुंची. डॉक्टरों को शक हुआ तो पुलिस को बुलाकर पोस्टमॉर्टम किया गया. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चला कि बच्चे की मौत गला दबाने से हुई है. पुलिस ने मां ने पूछताछ की तो उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया. उसके बाद पुलिस ने नाबालिग को बाल सुधार गृह भेज दिया गया. 15 साल की नाबालिग रेप के बाद प्रेग्नेंट हो गई थी.

जानकारी के अनुसार, 17 साल के नाबालिग लड़के ने ही 15 साल की इस नाबालिग लड़की का रेप किया था. दोनों एक ही गांव तेंदूखेड़ा के रहने वाले हैं और दोनों के बीच कुछ सालों तक प्रेम संबंध भी थे. इसी दौरान लड़के ने लड़की के साथ दुष्कर्म किया. शुरुआत में तो मामला दबा रहा, लेकिन जब लड़की गर्भवती हुई और उसमें शारीरिक बदलाव हुए तो मामला खुल गया. परिजनों ने आरोपी के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज करवाया है.

इस तरह हुआ खुलासा

पुलिस बताया कि लड़की के साथ दुष्कर्म जनवरी में हुआ था. इसका पता लड़की के परिजनों को अगस्त में लगा. उन्हें पता चला कि उनकी बेटी गर्भवती है. इसके बाद उन्होंने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज की. आरोपी को गिरफ्तार कर बाल सुधार गृह भेज दिया गया. उन्होंने बताया कि 16 अक्टूबर को किशोरी ने जिला अस्पताल में बच्चे को जन्म दिया. यहां पर मां और बच्चा 20 से ज्यादा दिनों तक रहे. स्वास्थ्य ठीक होने के बाद सभी घर चले गए.

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में हुआ खुलासा

पुलिस ने बताया कि नाबालिग लड़की 10 नवंबर की रात बच्चे को लेकर तेंदूखेड़ा अस्पताल पहुंची. जांच में पता चला कि बच्चे की मौत हो चुकी है. डॉक्टरों को शक हुआ तो उन्होंने पुलिस को इसकी सूचना दी. पुलिस ने बच्चे का पोस्टमॉर्टम कराया. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में बच्चे की मौत गला घोंटना बताई गई. इसके बाद पुलिस ने लड़की से कड़ाई से पूछताछ की तो उसने हत्या का पूरा राज खोल दिया. इसके बाद पुलिस ने धारा 302 के तहत उसके खिलाफ मामला दर्ज किया और उसे किशोर न्यायालय में पेश किया. लड़की को पुलिस ने बाल सुधार गृह भेज दिया.

आपके शहर से (दमोह)

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

Tags: Damoh News, Mp news





Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *