Spread the love


COVID-19 Update: केंद्र सरकार ने कोविड-19 के एक नए वैरियंट को लेकर सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को आगाह किया है. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के अतिरिक्त मुख्य सचिव, प्रधान सचिव, स्वास्थ्य सचिवों को हिदायत देते हुए कोविड -19 वैरियंट B.1.1529 को लेकर पत्र लिखा है. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को लिखा है कि दुनिया के कई देशों में कोविड -19 वैरियंट B.1.1529 के कई मामले सामने आए हैं जिससे हमें काफी सतर्क रहने की जरूरत है.

कोविड -19 वैरियंट B.1.1529 से खतरा

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को लिखे पत्र में बताया है कि वोत्सवाना, दक्षिण अफ्रीका और हांगकांग में कोविड -19 वैरियंट B.1.1529 के कई केस सामने आए हैं. उन्होंने कहा कि  बोत्सवाना में कोविड -19 वैरियंट B.1.1529 के तीन मामले सामने आए हैं, वही दक्षिण अफ्रीका में इस वैरियंट के 6 मामले मिले हैं. जबकि हांगकांग में  कोविड -19 वैरियंट B.1.1529 का एक मामला सामने आया है. नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (NCDC)की ओर से नए वैरियंट के बारे में रिपोर्ट किया गया है.

विदेशी यात्रियों की स्क्रीनिंग और टेस्टिंग पर जोर

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने विदेशों से आने वाले यात्रियों को लेकर विशेष चिंता जताई है. उन्होंने कहा है कि सभी राज्य विदेश से आने वाले यात्रियों की टेस्टिंग को लेकर खास ध्यान दें. उन्होंने कहा कि वोत्सवाना, दक्षिण अफ्रीका और हांगकांग से भारत आने वाले यात्रियों को लेकर खासकर विशेष ध्यान देने की जरुरत है. क्योंकि ये देश के लोगों के लिए स्वास्थ्य के लिहाज से खतरा साबित हो सकते हैं. उन्होंने कहा कि इन जगहों से आ रहे यात्रियों को सही तरीके से टेस्टिंग और स्क्रीनिंग की जरुरत है. साथ ही हाल में जारी रिवाइज्ड गाइडलाइंस का पालन भी जरुरी है. इसके साथ ही अंतरराष्ट्रीय यात्रियों और उनके संपर्क में आए लोगों की भी स्क्रीनिंग और जांच कड़ाई से होना चाहिए.

पॉजिटिव आए ऐसे मरीजों की RTPCR रिपोर्ट नियमित रूप से जीनोम सिक्वेंसिंग लैब INSACOG को भी भेजने के लिए कहा गया है. हालांकि कई मीडिया सूत्र बता रहे हैं कि दक्षिण अफ्रीका में नए वेरियंट के 22 मामलों की पुष्टि हुई है. हालांकि इससे पहले भी दक्षिण अफ्रीका समेत कई और देशों में कोरोना के वैरिएंट पाए जा चुके हैं. भारत में कोविड-19 को लेकर सरकार पहले से ही काफी गंभीर है. और अब नए वैरियंट से भी राज्यों को बचने के उपायों के बारे में आगाह किया जा रहा है. इससे पहले भी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कई देशों में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच कई राज्यों को चिट्ठी लिखी थी. जिसमें कोरोना को लेकर सजग रहने की हिदायत दी गई थी. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने यात्रा में वृद्धि को देखते हुए टेस्टिंग रेट को बढ़ाने की अपील की थी और संक्रमण को लेकर विशेष सावधानी बरतने को कहा था.

Electricity Amendment Bill सरकार शीतकालीन सत्र में करेगी पेश, जानिए विधेयक का क्यों विरोध कर रहे हैं किसान नेता?



Source link


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *